sponsor banner
sponsor
ads banner
sponsor banner
sponsor
ads banner
F1 समाचारFormula 1 में सबसे अमीर टीम का मालिक कौन है?

Formula 1 में सबसे अमीर टीम का मालिक कौन है?

फॉर्मूला 1 (Formula 1) दुनिया के सबसे महंगे खेलों में से एक है जिसे चलाने और संचालित करने के लिए कई बिलियन डॉलर का खर्च आता ही। हाई स्पीड कार की गरौथिंग इस खेल का सबसे महत्वपूर्ण पहलू है। प्रति सीजन सैकड़ों मिलियन डॉलर के करीब खर्च के साथ, केवल आर्थिक रूप से स्थिर टीमें ही श्रृंखला में प्रतिस्पर्धी हो सकती हैं।

ऐसे में कई लोगों के मन में यह सवाल कौंध सकता है कि Formula 1 में सबसे अमीर टीम का मालिक कौन है?

Formula 1 में सबसे अमीर मालिक कौन है?

फेरारी (Ferrari) सबसे मूल्यवान Formula 1 टीम होने के बावजूद, 1.3 बिलियन डॉलर के वैल्यूएशन के साथ, उनकी पैरेंट कंपनी सीरीज में सबसे अमीर मालिक नहीं हैं।

बल्कि यह टाइटल रेड बुल ग्रुप (Red Bull Group) के मेजोरिटी शेयरहोल्डर चालरम युविद्या (Chalerm Yoovidhya) को जाता है। वह कंपनी के 51% मालिक है, इस प्रकार वे Red Bull रेसिंग होंडा के मालिक भी बनते है।

थाई ओनर की कुल संपत्ति £22 बिलियन है। युविद्या फैमिली की अपार संपत्ति एनर्जी ड्रिंक रेड बुल (Red Bull) के निर्माण में उनके योगदान से आता है। चालेरम के पिता चालो योविद्या ने एनर्जी ड्रिंक के फार्मूले का आविष्कार किया और इसे अपने गृह देश थाईलैंड में सफल बनाया।

1987 में, डिट्रिच मात्सिट्ज़ ने थाईलैंड की अपनी एक यात्रा पर एनर्जी ड्रिंक का स्वाद चखा। उन्होंने परिवार से संपर्क किया और दुनिया भर में Red Bull Drink बेचने का फैसला किया।

इसकी स्थापना के समय, चलोओ और डिट्रिच प्रत्येक ने कंपनी में 49% शेयर ले लिए, शेष 2% चालरम योविद्या के पास गए। 2012 में अपने पिता के निधन के बाद उन्हें कंपनी का 49% विरासत में मिला, जिससे उनका कुल 51% हो गया और उन्हें Red Bull में बहुमत का मालिक बना दिया।

रेड बुल की Formula 1 यात्रा

2005 से पहले, Red Bull Formula 1 में सिर्फ एक स्पांसर था। उन्होंने Arrows GPI और Sauber की पसंद को स्पांसर किया। हालांकि, सितंबर 2004 में, Jaguar Formula 1 टीम ने रेड बुल रेसिंग को जन्म देते हुए अपने संचालन और कारखाने को Red Bull को बेच दिया।

सेबेस्टियन वेट्टेल के साथ V8 एरा के अंत में रेड बुल का खेल में सबसे प्रभावशाली दौर था। जर्मन, जो कभी रेड बुल अकैडमी चालक था, उसने 2010 और 2013 के बीच लगातार चार वपर्ल्ड चैंपियनशिप जीती। टीम अपने खुद के इंजन नहीं बनाती है और रेनॉल्ट द्वारा उनकी प्रमुख अवधि के दौरान आपूर्ति की गई थी।

ये भी पढ़ें: देखें Italian Grand Prix 2022 का टाइम टेबल

संबंधित लेख

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

सबसे अधिक लोकप्रिय